चोटी चोर चुड़ैल की कहानी:-Hindi story for kids with moral

चोटी चोर चुड़ैल :- Hindi story with moral

Choti chor horror story chudeil

आज में लाया हूं ऐसी रोमांचक hindi story जिसको पड़ के आप बहुत ही रोमांचित हो जाएंगे ओर इस कहानी का moral यानी की शिक्षा भी आप इसे पड़ कर जान जाएंगे।
चलिए शुरू करते हैं हमारी hindi moral story ।

यह कहानी है जंगल पुर गांव की जो बहुत ही घने जंगलों बीच बसा हुआ छोटा सा गांव था ।

उस गांव में  एक छोटी काटने वाली बुरी चुड़ैल  का साया था जो हर रात को आती और गांव में रात को सो रही औरतों की छोटी काट लेती और वहां से चली जाती और सो रही औरतों को इसकी कनो कान खबर भी नहीं पड़ती की चुड़ैल ने उनकी छोटी काट दी है।

जब औरते सुबह उठती तो अपनी चोटी न पाकर खूब रोती पर रोने के अलावा वो कुछ कर भी नहीं सकती थी।

गांव में दिनों दिन चोटी कटने की घटनाएं बड़ती ही जा रही थी उसी गांव में मोहन नाम का व्यक्ति रहता था एक दिन गांव में बड़ती चोरी कटने की घटनाएं देखते हुए उसकी पत्नी सुमन को कहता है कि तुम अपने बालों का ध्यान रखा करो तो
Best Hindi story for kids

उसकी पत्नी अपने बालो को सहलाती हुई कहती है कि आप फिक्र मत करो मेरे बालो को कोई भी नहीं काट सकता हैं

 तो उसका पति मोहन यह बात सुनकर हैरान होता हुआ बाहर की ओर चल देता है। रात को सब सो जाते हैं और सुबह हो जाती है गांव वाले श्याम के घर के बाहर एकत्र हुए होते है वहा श्याम की पत्नी रानी रो रही होती हैं।

उसकी चोटी कटी हुई होती है जो रात को चुड़ैल ने काट दी थी। मोहन और श्याम बहोत ही अच्छे मित्रा होते है।

 श्याम को सांत्वना देने मोहन रात को उसके घर जाता हैं तो श्याम मोहन को कहता है कि मोहन तुम भी भाभी जी का ख्याल रखना उस दुष्ट चुड़ैल के चंगुल से यह सुनकर मोहन भी घर को चल देता है वो

वहा जाकर देखता है कि उसकी बीवी उसके बालो को सहला रही थी जो अब पहले से और भी बड़े हो चुके थे यह देख मोहन भी बोल उठता है की भगवान एक दिन में तुम्हारे बाल इतने बड़े केसे हो गए है तो उसकी पत्नी सुमन ने यह कह के बात टाल दी कि आजकल वो अपने बालो पे ज्यादा ध्यान देने लगी है ।

 तो मोहन ने भी ज्यादा विचार न करते हुए उसकी बात मान ली और  सो गया। आधी रात को गांव वालो की आवाज़ सुनकर जब वो अपने बिस्तर से उठा तो उसने देखा कि उसकी पत्नी सुमन वहा घर में नहीं थी ।

 उसने बाहर जाकर देखा तो वहा गांव वालो की भीड़ इकट्ठा हुए थी क्योंकि उस रात को भी चुड़ैल ने किसी की चोटी काट ली थी।

 यह सुनकर मोहन को सुमन की चिंता होने लगी कि इतनी रात को कहा गई होगी वो और वो घर चला गया जैसे ही उसने अपने घर दरवाज़ा खोला तो उसने देखा कि सुमन अपने बालो को संवार रही थी और उसके बाल पहले से भी लंबे हो चुके थे

जब मोहन ने सुमन को कहा कि तुम्हारे बाल और भी लंबे हो गए है तो सुमन ने मोहन की बात टालते हुए कहा कि अब रात हो गई उस सो जाना चाहिए ।

 इधर मोहन को उसकी बीवी सुमन पर शक होने लगा ओर सुबह तड़के ही वो अपने मित्र श्याम के घर गया और उससे कहा कि उसकी पत्नी सुमन ही चुड़ैल है तो श्याम ने उसे सुझाव दिया कि चलो आज रात को देख लेते हैं कि चोटी कोंन काटता हैं।

 इसके लिए आज रात हम दोनों तुम्हारी पत्नी पे नजर रखेंगे मोहन भी उसकी बात मान लेता है ओर वो दोनो रात को सुमन पर नजर रखते है।

श्याम तो मोहन के घर में छुप जाता है और मोहन सुमन के सामने गहरी नींद में सोने का दिखावा करता हैं जब घनी रात हो जाती हैं तो उसकी पत्नी सुमन अचानक बिस्तर से उठती है और घर दरवाज़ा खोलके बाहर को निकलती है।

 मोहन और श्याम भी उसका पीछा करते हैं और सुमन को पड़ोस के ही घर में रंगे हाथो पकड़ लेते हैं जब सुमन यानी की चुड़ैल मोहन को देखती हैं तो वह उसको रास्ते से हटने को बोलती है यह देख कर मोहन बोल उठता है कि सुमन तुम्हे यह क्या हो गया है तो वह चुड़ैल कहती है कि बेवकूफ आदमी ने कोई तेरी सुमन नहीं हूं में तो एक चुड़ैल हूं।

 पास में ही मोहन का मित्र श्याम मोहन को कहता है कि तूम चुड़ैल को बातो में उलझाए रखो तब तक वो पीछे से कर उसकी चोटी काट डालेगा मोहन बिल्कुल श्याम के कहे अनुसार चुड़ैल को बातो में उलझाए रखता है और
Horror story in Hindi with moral

श्याम पीछे से चाकू लाता है और चुड़ैल की चोटी काट डालता है और चुड़ैल सुमन का रूप ले लेती है और  प्रकार सुमन चुड़ैल के श्राफ से मुक्त हो जाती है और वो न को शुक्रिया कहती है। मोहन भी अपनी पत्नी सुमन को पाकर बहुत खुश होता है।

Moral of Hindi story:- हमेशा दिमाग से काम लेना चाहिए चाहे परिस्थितियां केसी भी हो।

Post a Comment

0 Comments